14 जनवरी 2022: शामली जिले की सुर्खियां? देखिए- पत्रकार नदीम चौहान के साथ- अंग्रेजों के जमाने से चले आ रहे रेलवे के टोकन सिंग्नल से अब आजादी मिल गई है।

शामली। अंग्रेजों के जमाने से चले आ रहे रेलवे के टोकन सिंग्नल से अब आजादी मिल गई है। शुक्रवार को शामली रेलवे स्टेंशन पर टोकनलेस सिंग्नल का निरीक्षण करने पहुंचे उत्तर रेलवे के वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक सामान्य रामबीर सिंह ने शामली से लेकर सहारनपुर की टपरी स्टेशन तक व्यवस्थाओं का जायजा लिया। अब उम्मीद है जल्द ही दिल्ली वाया शामली, सहारनपुर मार्ग पर विद्युत ट्रेनों का संचालन शुरू हो सकेगा।
उत्तर रेलवे के वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक सामान्य रामबीर सिंह विशेष रेल से अपनी टीम के साथ शुक्रवार को शामली पहुचे, जहां पर उन्होने चालकों द्वारा दिए जाने वाले टोकल सिंग्लन सिस्टम की लागू हुई व्यवस्थाओं का बारीकी से निरीक्षण किया। उन्होने उत्तर रेलवे द्वारा शुरू की गई नई टैक्नोलोजी रंगीन सिंग्नल व टोकनलेस सिंग्नल के बारे में कर्मचारियों को जानकारियां दी और उसके संचालन के बाद इस दौरान उन्होने कहा कि टोकन प्रणाली से रेलवों की आवागमन में देरी होती थी। चालक को नियम अनुसार टोकन सिंग्नल दिए जाने तक काफी वक्त बबार्द होता था, लेकिन अब टोकनलेस सिंग्नल प्रणाली से रेलवे की गति में बढोतरी होगी। इस दौरान उनके द्वारा शामली से लेकर सहारनपुर की टपरी तक रेलवे द्वारा बिछाई जा रही विद्युत लाईन का निरीक्षण किया गया। शामली रेलवे स्टेशन अधीक्षक इकराम अली ने बताया कि थानाभवन स्टेशन तक रेलवे इलैक्ट्रीशियन का कार्य पूरा हो चुका है। 19 जनवरी तक ननौता, रामपुर व टपरी तक का कार्य पूरा कर लिया जायेगा, जिसके बाद अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के निरीक्षण के बाद विद्युत लाईन चालू करने का अनुमान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *